बेमेतरा (About Bemetara)

बेमेतरा छत्तीसगढ़ का एक शहर हैं, जो दुर्ग जिले से अलग होकर नए जिले के रूप में १४ जनवरी २०१२ को अस्तित्व में आया| यहाँ के प्रथम कलेक्टर के रूप में सुश्री श्रुति सिंह नें कार्यभार ग्रहण किया तथा एसपी के रूप में आर पी साय ने अपनी सेवायें दी|

जिला मूल रूप से अपने उन्हारी उत्पादन के लिए पुरे एशिया में विख्यात हैं। यहाँ चना की रिकार्डतोड़ पैदावार होती हैं। शिक्षा के क्षेत्र में भी यह जिला अग्रिणी रहा हैं। अंतर्राष्ट्रीय स्तर के कवी सुरेन्द्र दुबे भी इसी माटी के हैं। इन्टरनेट पर राष्ट्रीय न्यूज़ सर्विस दे रहे अजय कुमार बेमेतरा जिले के पहले अधिमान्य प्राप्त पत्रकार हैं। माता भद्रकाली संस्थान, योगिद्वीप, देवरबीजा, सरदा, देवकर, नवागढ़ सहित कई महत्वपूर्ण जगह इस किले में स्थित हैं। रेलमार्ग से अछूता यह शहर सिर्फ सड़क मार्ग के भरोसे भी सफलता की ओर अग्रसर हैं।

बेमेतरा नगर नवीन बेमेतरा जिले का एकमात्र नगर पालिका परिषद है। जो 21 वार्डों में बटा हुआ है। बेमेतरा नगर पालिका परिषद के वर्तमान अध्यक्ष श्री विजय सिन्हा जी हैं। बेमेतरा नगर की जनसंख्या 2011 की जनगणना के हिसाब से 28226 है। बेमेतरा नगर में स्थित सिद्ध शक्तिपीठ माता भद्रकाली व माता शीतला के प्रसिद्ध मंदिर हैं।

छत्तीसगढ राज्य के दुर्ग जिले को विभाजित कर 21 वें जिले के रूप में बालोद एवं 22वें जिले के रूप में 13 जनवरी 2012 को बेमेतरा जिला का गठन किया गया। जिसका विधिवत उदृघाटन राज्य के मुख्यमंत्री माननीय रमन सिंह जी के द्वारा किया गया। लगभग दो हजार 855 वर्ग किलोमीटर में फैले इस नये जिले में पांच तहसीलों के अंतर्गत 700 गांव, 387 ग्राम पंचायत और सात नगरीय क्षेत्र शामिल हैं। बेमेतरा जिला शिवनाथ, सुरही, हाफ और संकरी नदी के आंचल में 700 गांवों और 387 ग्राम पंचायतों के साथ दो हजार 855 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है। नये जिले में चार विकासखण्ड- नवागढ़, बेमेतरा, बेरला, साजा एवं पांच तहसीलें- नवागढ़, बेमेतरा, बेरला, साजा और थानखम्हरिया है। एक नगर पालिका परिषद बेमेतरा सहित सात नगरीय निकाय- नगर पंचायत साजा, थानखम्हरिया, मारो, देवकर, नवागढ़, परपोड़ी और बेरला शामिल हैं। जिले के सभी 700 आबाद गांवों का विद्युतीकरण हो चुका है।

बेमेतरा जिले में किसान लगभग दो लाख 35 हजार हेक्टेयर में खेती करते हैं। मुख्य रूप से बेमेतरा जिले में धान के साथ-साथ दलहन-तिलहन, गन्ना और गेहूं की खेती हो रही है। नये बेमेतरा जिले की कुल जनसंख्या सात लाख 95 हजार 334 है। इसमें सात लाख 21 हजार की आबादी ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करती है। जिला मुख्यालय बेमेतरा से लगभग 15 किलोमीटर की दूरी पर हाफ नदी के किनारे ग्राम बुचीपुर में चौदहवीं शताब्दी का प्रसिध्द महामाया मंदिर इस नये जिले के गौरवशाली इतिहास का साक्षी है। बेमेतरा जिले में कुल एक हजार 385 शैक्षणिक संस्थाएं संचालित हो रही है। इनमें पांच कॉलेज, 63 हायर सेकेण्डरी स्कूल, 59 हाई स्कूल, 411 मिडिल स्कूल, 845 प्राथमिक शालाएं और दो तकनीकी शिक्षण संस्थाएं शामिल हैं। बेमेतरा से 15 किमी. की दुरी पर देवरबीजा ग्राम में स्थित सीता मंदिर और रायपुर जीले की सरहद में शिवनाथ और खारून नदी के संगम में अत्यंत रमणीय व धार्मिक पर्यटक स्थल सोमनाथ का मंदिर इस जिले की शोभा बढ़ाते हैं।